माँ सरस्वती जी के प्रसिद्ध मंदिर -Temple of Maa Saraswati - ॐ जय माता दी ॐ

Latest:

Translate

Search This Blog

“ सर्वमङ्गलमाङ्गल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके । शरण्ये त्र्यम्बके गौरि नारायणि नमोऽस्तु ते ॥

Wednesday, 29 April 2020

माँ सरस्वती जी के प्रसिद्ध मंदिर -Temple of Maa Saraswati




मां सरस्वती ज्ञान-विज्ञान, कला, संगीत की देवी हैं. बसंत पंचमी पर अज्ञानता को दूर करने और जीवन में नया उत्साह प्राप्त करने के लिए देवी सरस्वती को पूजा जाता है. देवी कृपा से दिमाग तेज चलता है और धन संबंधी कामों में सही निर्णय ले पाते हैं.

हम आपको आज मां सरस्वती के 6 मंदिरों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनसे कई सारे रहस्य जुड़े हैं. ये मंदिर प्रसिद्ध होने के साथ-साथ अपने साथ कई कहानियां और रहस्य जोड़े हुए हैं.

Mother Saraswati is the goddess of knowledge, science, art and music. Goddess Saraswati is worshiped on Basant Panchami to remove ignorance and to gain new enthusiasm in life. Goddess Kripa keeps the mind sharp and makes right decisions in money related works.



Today we are going to tell you about the 6 temples of Maa Saraswati, with which many mysteries are connected. As these temples are famous, many stories and mysteries have been added to them.

1. श्री ज्ञान सरस्वती मंदिर (आंध्रप्रदेश)
कथाओं के अनुसार, महाभारत युद्ध के बाद इसी जगह वेदव्यास ने देवी सरस्वती की तपस्या की थीं, जिससे खुश होकर देवी ने उन्हें दर्शन दिए थे. देवी के आदेश पर उन्होंने तीन जगह तीन मुट्ठी रेत रखी. चमत्कार स्वरूप रेत सरस्वती, लक्ष्मी और काली प्रतिमा में बदल गईं.

1. Sri Gyan Saraswati Temple (Andhra Pradesh)

According to the legends, after the Mahabharata war, Ved Vyas did penance of Goddess Saraswati at this place, which pleased the Goddess appeared to her. At the behest of the goddess, he placed three fists of sand at three places. Miracles turned sand into Saraswati, Lakshmi and Kali idols.


2. कोट्टयम का सरस्वती मंदिर (केरल)
इसे केरल का एकमात्र ऐसा मंदिर कहा जाता है, जो देवी सरस्वती को समर्पित है. इस मंदिर को दक्षिण मूकाम्बिका के नाम से भी जाना जाता है. यहां देवी सरस्वती की मूर्ति पूर्व दिशा की ओर मुंह करके स्थापित है.

2. Saraswati Temple of Kottayam (Kerala)

It is said to be the only temple in Kerala dedicated to Goddess Saraswati. This temple is also known as Dakshin Mookambika. Here the idol of Goddess Saraswati is installed facing east.


3. पुरा तमन सरस्वती मंदिर (बाली)
देवी सरस्वती को समर्पित यह मंदिर बाली के उबुद में है. यह इंडोनेशिया के प्रमुख हिंदू मंदिरों में से एक है. यहां बना कुंड इस मंदिर का मुख्य आकर्षण है. यहां हर रोज संगीत के कार्यक्रम होते हैं.

3. Pura Taman Saraswati Temple (Bali)

This temple dedicated to Goddess Saraswati is in Ubud, Bali. It is one of the major Hindu temples in Indonesia. The kund built here is the main attraction of this temple. Music programs are held here everyday.


4. श्रृंगेरी का मंदिर (कर्नाटक)
कहा जाता है कि यहां का सरस्वती मंदिर श्री शंकर भागावात्पदा ने 7वीं शताब्दी में बनाया गया था. यहां की मूर्ति को लेकर कहा जाता है कि पहले यहां चंदन की मूर्ति थी, बाद में जिसकी जगह सोने की मूर्ति स्थापित कर दी गई.


4. Shringeri Temple (Karnataka)

It is said that the Saraswati temple here was built by Sri Shankar Bhagavatpada in the 7th century. It is said about the idol here that at first there was a sandalwood idol, later a gold idol was installed in its place.

5. मैहर का शारदा मंदिर (मध्यप्रदेश)
मध्यप्रदेश के सतना जिले त्रिकुटा पहाड़ी पर मां दुर्गा के शारदीय रूप देवी शारदा का मंदिर है. इस मंदिर को लेकर मान्यता है कि आल्हा और उदल नाम के दो चिरंजीवी हजारों सालों से रोज देवी की पूजा कर रहे हैं.

5. Sharda Temple of Maihar (Madhya Pradesh)

On the Trikuta hill, Satna district of Madhya Pradesh, there is a temple of Goddess Sharada, the martial form of Mother Durga. There is a belief about this temple that two Chiranjeevi named Alha and Udal have been worshiping the Goddess everyday for thousands of years.

6. पुष्कर का सरस्वती मंदिर (राजस्थान)
राजस्थान के पुष्कर में विश्व का एकमात्र ब्रह्मा मंदिर है. ब्रह्मा मंदिर से कुछ दूर पहाड़ी पर देवी सरस्वती का मंदिर है. कहते हैं कि देवी सरस्वती ने ही ब्रह्माजी को सिर्फ पुष्कर में उनका मंदिर होने का श्राप दिया था.

6. Saraswati Temple of Pushkar (Rajasthan)

The only Brahma temple in the world is in Pushkar, Rajasthan. There is a temple of Goddess Saraswati on the hill some distance from the Brahma temple. It is said that Goddess Saraswati only cursed Brahmaji for having his temple in Pushkar.

No comments:

Post a comment