Know about 3 sons and 1 daughter of Lord Bhole Nath-जानिए भगवान भोले नाथ के ३ पुत्र और १ पुत्री क बारे में - ॐ जय माता दी ॐ

Latest:

Translate

Search This Blog

“ सर्वमङ्गलमाङ्गल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके । शरण्ये त्र्यम्बके गौरि नारायणि नमोऽस्तु ते ॥

Saturday, 2 May 2020

Know about 3 sons and 1 daughter of Lord Bhole Nath-जानिए भगवान भोले नाथ के ३ पुत्र और १ पुत्री क बारे में

भगवान भोलेनाथ के तीन बेटे थे और एक बेटी भी थी

 अभी तक आप यही जानते रहे होंगे कि देवों के देव महादेव और माता पार्वती के दो पुत्र थे एक भगवान श्रीगणेश और दूसरे कार्तिकेय। लेकिन क्या आपको पता है भगवान भोलेनाथ के दो नहीं बल्कि तीन बेटे थे और एक बेटी भी थी। जी हां भगवान महादेव  के तीसरे बेटे का नाम था अय्यपा और बेटी थी अशोक सुंदरी।

शास्त्रों के अनुसार, अयप्पा को महादेव और मोहनी का पुत्र ही बताया जाता है। राक्षसराज भस्मासुर को वरदान मिला कि वह जिसके सिर पर हाथ रखेगा वो भस्म हो जाएगा तो भस्मासुर भगवान शिव के ही पीछे पड़ गया। तब फिर शिव जी ने विष्णु जी से सहायता मांगी थी।

तब भगवान विष्णु ने मोहिनी का रूप धारण किया और भस्मासुर के सामने आ गए। मोहनी के आकर्षण से आकर्षित होकर भस्मासुर ने उनके लिए प्रेम जताया। इस पर मोहिनी ने कहा कि, 'अगर आप मुझसे प्रेम करते हैं तो सिर पर हाथ रखकर कसम खाइए।' बस फिर क्या था। भस्मासुर ने बिना देर किए सिर पर हाथ रख लिया। आखिरकार वो खुद ही भस्म हो गया।

 एक कथा यह भी हैं कि जब भस्मासुर भस्म हो गया तो मोहिनी के रूप को देखकर भगवान शिव ही आकर्षित हो गए। आखिरकार इस तरह हुआ भगवान अयप्पा का जन्म। केरल में स्थित अयप्पा मंदिर को सबरीमाला के नाम से जाना जाता है।

अशोक सुंदरी है भगवान शिव की बेटी

यह भी बता दें कि भगवान भोलेनाथ के एक बेटी भी है। पद्म पुराण के अनुसार, एक बार माता पार्वती विश्व में सबसे सुंदर उद्यान में जाने के लिए भगवान शिव से कहा। तब भगवान शिव पार्वती को नंदनवन ले गए, वहां माता को कल्पवृक्ष से लगाव हो गया और उन्होंने उस वृक्ष को लेकर कैलाश आ गईं। एक बार भगवान भोलेनाथ तप करने के लिए चले गए।

माता अकेली थी। अपने अकेलेपन को दूर करने हेतु पार्वती ने उस कल्प वृक्ष से यह वर मांगा कि उन्हें एक कन्या प्राप्त हो, तब कल्पवृक्ष द्वारा अशोक सुंदरी का जन्म हुआ।

Lord Bholenath had three sons and a daughter.

 Till now you must have known that Mahadev, the God of Gods and Goddess Parvati, had two sons, Lord Shriganesh and the other Kartikeya. But do you know that Lord Bholenath had not two, but three sons and a daughter. Yes, the third son of Lord Mahadev was named Ayyapa and the daughter was Ashok Sundari.

According to the scriptures, Ayyappa is said to be the son of Mahadev and Mohani. The demon king Bhasmasura got a boon that if he puts his hand on his head that will be consumed, then Bhasmasura fell behind Lord Shiva. Then Shiva then sought help from Vishnu.

Then Lord Vishnu took the form of Mohini and came in front of Bhasmasura. Attracted by Mohini's charm, Bhasmasura expressed love for him. On this Mohini said, 'If you love me, then swear on your hands with your head.' Then what was there. Bhasmasura laid his hands on the head without delay. Eventually he himself was consumed.

 There is also a legend that when Bhasmasura was consumed, Lord Shiva was attracted by seeing Mohini's form. Eventually Lord Ayyappa was born this way. The Ayyappa temple located in Kerala is known as Sabarimala.

Ashok Sundari is the daughter of Lord Shiva

Also tell that Lord Bholenath has a daughter. According to Padma Purana, once Mata Parvati asked Lord Shiva to visit the most beautiful garden in the world. Then Lord Shiva took Parvati to Nandanvan, where the mother fell in love with Kalpavriksha and she came to Kailash with that tree. Once Lord Bholenath went to meditate.

Mother was alone. To overcome her loneliness, Parvati asked the bridegroom to ask him to get a girl, when Ashok Sundari was born by Kalpavriksha.

No comments:

Post a comment